लहरों से लड़ने समुद्र में उतरी उदयपुर की ‘जलपरी’, तैरकर रचा नया कीर्तिमान

उदयपुर: राजस्थान के उदयपुर की रहने वाली 14 साल की गौरवी सिंघवी किसी ‘जलपरी’ से कम नहीं है, जो समुद्र की तेज लहरों में अपनी मंजिल ढूंढ ली लेती है. गौरवी सिंघवी ने मंगलवार को अरब सागर में लगातार 9 घंटे तैरकर नया कीर्तिमान रच दिया।

सुबह 3:30 बजे गौरवी ने जुहू बीच के खार डांडा से तैरना शुरू किया और दोपहर करीब 1:30 बजे वह ऐतिहासिक गेटवे ऑफ इंडिया पहुंच गईं।

खार डांडा से गेटवे तक की 47 किलीमोटर की दूरी इस जलपरी ने 9:23 घंटे तक लगातार तैरकर पूरी की। गौरवी के इस कीर्तिमान का गवाह बने कोस्ट गार्ड की टीम के साथ उनके कोच महेश पालीवाल और गौरवी के परिजन। समंदर में ज्वार के बावजूद गौरवी ने इतनी लंबी दूरी आसानी से तय की। इस दौरान दो बोट और लाइफगार्ड गौरवी की सुरक्षा के लिए तैनात रहे।

पहले भी बनाया रेकॉर्ड :-
गौरवी इससे पहले भी अरब सागर की लहरों से खेल चुकी हैं। पिछले साल मार्च में सबसे कम उम्र में बांद्रा-वर्ली सी लिंक से गेटवे ऑफ इंडिया तक 36 किलोमीटर की लगातार तैराकी करके उन्होंने रेकॉर्ड कायम किया था।

3 साल की उम्र से तैराकी :-
गौरवी ने तीन साल की उम्र से ही तैराकी शुरू कर दी थी। गौरवी की मां शुभ सिंघवी ने उन्हें शुरुआती ट्रेनिंग दी थी। गौरवी का अगला लक्ष्य इंग्लिश चैनल है। गौरवी ने बताया, ‘इंग्लिश चैनल पार करने में अभी उम्र आड़े आ रही है। उम्र होते ही इंग्लिश चैनल भी पार करूंगी।’

ऐसे की तैयारी :-
गौरवी ने रोज उदयपुर की फतहसागर झील में 8 से 10 घंटे तक 25 किमी तैरने का अभ्यास किया। खास बात यह है कि 8 घंटे की तैराकी के दौरान नाश्ता और खाना वह पानी में ही करती हैं। गौरवी के कोच महेश पालीवाल ने बताया कि तबीयत खराब होने, पानी से जुड़ी दिक्कतों और परिवार की चुनौतियों के बावजूद वह तैयारी में जुटी रही।

Web Title : Udaipur's 'Japeri', landed in the sea fighting waves