जयपुर जेल में बंद कैदियों ने होली खेलने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर डालीं, जांच के आदेश

जयपुर: लगता है जैसे जेल में मोबाइल और इंटरनेट आम बात हो गई है. कभी जेल के अंदर से राजसमंद कांड का आरोपी शंभूलाल रैगर वीडियो जारी करता है तो कभी जेल के अंदर से होली की तस्वीरें वायरल हो जाती हैं. पुलिस इस नए मामले में भी जांच की बातें कर रही है और अधिकारी जेल की सुरक्षा पर भरोसा जता रहे हैं. दरअसल अब राजस्थान की जयपुर सेंट्रल जेल में कैदियों द्वारा होली खेलने की तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हो रही हैं. इन तस्वीरों के वायरल होने के बाद जेल विभाग के जेलों में सुरक्षा के दावे पर सवाल उठने लगे हैं. साथ ही जेल विभाग की सारी सुरक्षा-व्यवस्था को ताक पर रखते हुए यहां चार कैदियों ने होली खेलने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दीं.jaipur 1

कैदियों की ये तस्वीरें जयपुर सेंट्रल जेल के अंदर की हैं. वरिष्ठ जेल अधिकारियों को खुद इस बात की भनक नहीं लगी. जब तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हुईं और उनके मोबाइल पर पहुंची तो उन्हें पता चला कि जेल से होली खेलते हुए कैदियों ने तस्वीरें पोस्ट की हैं. मीडिया में बात फैलते ही जेल प्रशासन हरकत में आया.

रविवार को प्रदेश सरकार ने पूरे मामले की जांच करने के आदेश दिए. राज्य सरकार ने अधिकारियों से कहा है कि तीन दिन के अंदर पूरे प्रकरण की रिपोर्ट शासन को दें. इधर, जेल प्रशासन की तरफ से जेल के अंदर सर्च ऑपरेशन भी चलाया गया. सर्च ऑपरेशन सिर्फ जयपुर की सेंट्रल जेल ही नहीं, बल्कि पूरे प्रदेश के जेलों में चला. एडीजी जेल भूपेंद्र सिंह ने कहा कि उन्हें मामले की जानकारी मिली है. यह बहुत ही गंभीर मामला है. अधिकारियों को तत्काल निर्देश जारी कर दिए गए हैं. सोमवार को आधिकारिक पत्र सभी अधिकारियों को भेज दिया जाएगा.

जेल में धमकियों की शिकायत
एक महीने पहले ही शंभू लाल रैगर को जोधपुर की जेल में लाया गया था। वह एक हिस्ट्री शीटर और हार्डकोर क्रिमिनल है. उसने जेल से एक विडियो पोस्ट किया था, जिसमें उसने कहा था कि जेल में उसे धमकियां मिल रही हैं। अब होली की तस्वीरें वायरल होने से साफ जेल प्रशासन के सुरक्षा के दावे पर फिर सवाल उठने लगे हैं.

हाईकोर्ट ने अदालती आदेश के बावजूद भी प्रदेश की जेलों में सुधार की कार्रवाई नहीं होने पर हाल ही में नाराजगी जताई है. ऐसे में पालना नहीं करने पर कोर्ट ने डीजीपी अोपी गल्होत्रा, डीजी जेल भूपेन्द्र यादव और गृह सचिव को 22 मार्च को तलब करके स्पष्टीकरण मांगा है. जेलों में मोबाइल की रोकथाम के लिए कई बार दिशा-निर्देश दिए जा चुके हैं. लेकिन जेलों में मोबाइल की रोकथाम नहीं रुक रही है.

 

Web Title : Jaipur prison prisoners put pictures of Holi playing on social media