पीएनबी घोटाले में बड़ा खुलासा: यहां छिपा बैठा है नीरव मोदी, रेड कॉर्नर नोटिस के लिए CBI एक्टिव

नई दिल्‍ली: देश छोड़कर भाग चुका अरबों रुपये के घोटाले का आरोपी हीरा कारोबारी नीरव मोदी कहां है, भारत सरकार को फिलहाल इसकी जानकारी नहीं है। अख़बार ‘फाइनेंशियल टाइम्स’ के मुताबिक, भारत और ब्रिटेन के अधिकारियों ने नीरव मोदी के ब्रिटेन में होने की पुष्टि की है। और वहां उसने भारत में राजनीतिक प्रतिशोध का दावा करते हुए राजनीतिक शरण की मांग की है। आपको बता दें कि नीरव पर अपने रिश्तेदार मेहुल चौकसी के साथ मिलकर पंजाब नेशनल बैंक के साथ 13,000 करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी करने का आरोप है।

विदेश राज्‍य मंत्री किरन रिजिजू ने ब्रिटेन के मंत्री बैरोनेस विलियम्‍स से इस संबंध में बातचीत की है. उम्‍मीद की जा रही है कि नीरव मोदी के प्रत्‍यर्पण में ज्‍यादा समय नहीं लगेगा. उसे जल्‍द भारत लाया जा सकेगा. दिल्‍ली आए ब्रिटिश प्रतिनिधिमंडल ने नीरव के उसके ब्रिटेन में होने की पुष्टि की. इस दौरान भगोड़े विजय माल्‍या के प्रत्‍यर्पण के बारे में भी दोनों मंत्रियों के बीच चर्चा हुई. विजय माल्‍या भी कई बैंकों को चूना लगाकर ब्रिटेन भाग गया है. रिजिजू ने कहा कि मेरी ब्रिटिश मंत्री के साथ बैठक अच्‍छी रही है. हमने आतंकवाद समेत कई मुद्दों पर सहयोग बढ़ाने की अपील की है.

एक रिपोर्ट के मुताबिक नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चौकसी ने पीएनबी में 13 हजार करोड़ रुपए का घपला किया है. इससे पहले सीबीआई ने इंटरपोल से मोदी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने का अनुरोध किया था. यानि इंटरपोल के सदस्य देशों की पुलिस नीरव मोदी को गिरफ्तार कर प्रत्यर्पित कर पाएगी. नीरव मोदी बैंक की घोटाले की शिकायत के कुछ दिन पहले जनवरी में देश छोड़कर भाग गया था. सीबीआई ने शिकायत के आधार पर नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है. इसमें नीरव के भाई व पत्नी का भी नाम है.

दो दिन पहले यह खबर आई थी कि मोदी लंदन में ब्रिटेन से राजनीतिक शरण मांग रहा है. करोड़ों का फर्जीवाड़ा करने वाले नीरव के बारे में यह दावा भारतीय और ब्रिटिश अधिकारियों से बातचीत के बाद एक रिपोर्ट में किया गया था. प्रवर्तन निदेशालय भी नीरव और चौकसी के खिलाफ जांच में कर रहा है. हालांकि ये दोनों अपने खिलाफ लगे आरोपों को नकारते रहे हैं.

Web Title : Big disclosure in PNB scam: Nirvav Modi is sitting here,