AIIMS में अटल बिहारी वाजपेयी का तीसरा दिन, हालत में हो रहा सुधार

नई दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को सोमवार सुबह 11:30 बजे अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में भर्ती कराया गया। उनकी हालत तीसरे दिन स्थिर बनी हुई है। वह लंबे समय से बीमार चल रहे हैं। उन्हें यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन, लोवर रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट इंफेक्शन और किडनी संबंधी बीमारियों के कारण डॉक्टर्स की सलाह पर एम्स में भर्ती कराया गया था।

बुधवार दोपहर एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने प्रेस को संबोधित किया। उनकी स्थिति की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि उनकी किडनी फिर से सामान्य रूप से काम कर रही है। कुछ दिन में वो पूरी तरह से स्वस्थ हो जाएंगे और हम उन्हें घर भेज पाएंगे। वाजपेयी को मूत्राशय में संक्रमण के इलाज के लिए सोमवार को एम्स में भर्ती कराया गया था। डॉ. गुलेरिया ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी में पिछले 48 घंटों में महत्वपूर्ण सुधार दिखा है। उनकी किडनी सामान्य काम कर रही है, हृदय गति, श्वसन दर और बीपी फिर से सामान्य हो गया है, उन्हें बिना सपोर्ट के रखा जा रहा है। उम्मीद है कि वह अगले कुछ दिनों में पूरी तरह से रिकवरी करेंगे, कुल मिलाकर उसका स्वास्थ्य अच्छा है।

बताया जा रहा है कि अयोध्या में बीजेपी सांसद लल्लू सिंह ने पूर्व प्रधानमंत्री के अच्छे स्वस्थ्य के लिए रुद्राभिषेक कराया है। वहीं अटलजी के संसदीय क्षेत्र लखनऊ सहित मेरठ, आगरा, कानपुर, इलाहाबाद में उनकी अच्छी सेहत के लिए पूजा के साथ दुआयें भी मांगी जा रही हैं।

वाजपेयी के स्वास्थ्य को लेकर एम्स ने मंगलवार दोपहर में मेडिकल बुलेटिन जारी किया। इसके बाद मंगलवार शाम को फिर से उनका मेडिकल बुलेटिन जारी किया गया, जिसमें उनकी तबीयत को स्थिर बताया गया है। कहा जा रहा है कि अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत स्थिर बनी हुई है, मगर इन्फेक्शन अभी भी बना हुआ है जिसे ठीक करने में डॉक्टर्स का पैनल लगा है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी बुधवार को भी अस्पताल से डिस्चार्ज नहीं होंगे।

एम्स ने मंगलवार को बयान में कहा था, ‘उनकी हालत स्थिर है। इलाज का उन पर असर हो रहा है और उन्हें इंजेक्शन के जरिए एंटीबायटिक्स दिए जा रहे हैं। संक्रमण के नियंत्रण में आने तक उन्हें अस्पताल में ही रखा जाएगा।’ एम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया की निगरानी में चिकित्सकों की एक टीम उनके स्वास्थ्य की निगरानी कर रही है। इस बीच उनको देखने वाले लगातार एम्स पहुंच रहे हैं। विपक्ष से लेकर सरकार तक के बड़े-बड़े नेता वाजपेयी को देखने एम्स पहुंच रहे हैं।

मंगलवार को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एचडी देवेगौड़ा सहित अन्य नेता वाजपेयी का हालचाल जानने अस्पताल पहुंचे थे। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत, स्वास्थ्य मंत्री जगत प्रकाश नड्डा, स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्वनी कुमार चौबे, पूर्व केन्द्रीय मंत्री कलराज मिश्र, विधि राज्य मंत्री पीपी चौधरी, भाजपा नेता और केन्द्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति और केन्द्रीय मंत्री अनंत गीते भी वाजपेयी का हालचाल पूछने पहुंचे थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को वाजपेयी के स्वास्थ्य की जानकारी लेने एम्स गए थे। आधिकारिक बयान के अनुसार, मोदी ने डॉक्टरों से भेंट कर वाजपेयी के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री के परिवार के सदस्यों से भी भेंट की। वह करीब 50 मिनट तक अस्पताल में रुके। भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, स्वास्थ्य मंत्री जयप्रकाश नड्डा और पर्यावरण मंत्री हर्षवर्द्धन भी बीमार नेता को देखने पहुंचने वालों में शामिल रहे।

Web Title : Atal Bihari Vajpayee's third day in AIIMS, improvement in condition